सोशल डिस्टेंसिंग तोड़ने पर रोबोट देगा 2000 वाल्ट का झटका, कैसे, यहां पढ़ें

खबर है उत्तराखंड के वाराणसी की।कोरोना वायरस से कुछ राहत मिले तो इस लड़ाई को मुकाम तक पहुंचाने के लिए हर दिन नित नए प्रयोग और रिसर्च किये जा रहे हैं।कोरोना काल में जहा पुरे देश में सन्नाटा पसरा हुआ है वही वाराणसी के एक नौजवान ने भी इस दिशा में टेक्नोलॉजी का उपयोग करके एक नया करिश्मा कर दिखाया है। इस नोजवान ने कोरोना से बचाव के लिए एक ऐसा रोबोट बनाया है, जो न सिर्फ सुरक्षा की ड्यूटी निभाने वाले जवानों को सुरक्षा के साथ साथ ‘लॉकडाउन’ और सोशल डिस्टेंसिंग तोड़ने पर रोबोट देगा 2000 वाल्ट का झटका, कैसे, यहां पढ़ें।

अशोका इंस्टिट्यूट ऑफ़ टेक्नोलॉजी एंड मैनेजमेंट , वाराणसी

इस रोबोट को बनाने वाला कोई और नहीं, विशाल पटेल है जो की प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के संसदीय क्षेत्र वाराणसी स्थित अशोका इंस्टीट्यूट के मैकेनिकल इंजीनियरिंग के तृतीय वर्ष का होनहार छात्र है।

अशोका इंस्टिट्यूट ऑफ़ टेक्नोलॉजी एंड मैनेजमेंट , वाराणसी
अशोका इंस्टिट्यूट ऑफ़ टेक्नोलॉजी एंड मैनेजमेंट , वाराणसी

रोबोट की खासियत

इस रोबोट की खास बात ये है की Anit Covid-19 रोबोट हलके पानी में चलने के साथ साथ  यह चिकनी सतह के साथ ऊबड़-खाबड़ जगह पर भी बड़े आराम से चल सकता है जो अमूमन अधिकतर रोबोट में देखने को नहीं मिलता।

anti covid-19 robot
Anti covid-19 robot running on water

विशेषज्ञ का मानना हैं कि शहरों के भीड़भाड़ वाले इलाको  तथा बैंक, बड़े बड़े माल्स या किसी लम्बी कतार को कण्ट्रोल करने काम भी  करेगा, साथ ही ग्रामीण क्षेत्रों जहां पुलिस नहीं पहुंच पा रही, वहां भी ज्यादा कारगर साबित हो सकता है।

रोबोट इंजीनियर विशाल पटेल

VISHAL PATEL
VISHAL PATEL ROBOTIC ENGINEER

विशाल पटेल ने बताया की इस रोबोट का निर्माण अपने  सीनियर श्याम चौरसिया की देखरेख में एंटी कोविड-19 को ध्यान में रखते हुए बनाया है। और दवा किया जा रहा है की यह उपकरण पुलिसकर्मियों को भी सुरक्षा प्रदान करेगा और लोखड़ौन तोड़ने वालो के खिलाफ कारवाही में पुलिस की मदद भी करेगा.

युवाओ के लिए प्रेरणा का स्त्रोत विशाल पटेल

आज भारत देश का हर वो युवा देश को आगे बढ़ाने में टेक्नोलॉजी Technology का किस तरह से उपयोग कर रहा है विशाल पटेल ने टेक्नोलॉजी का उपयोग करके “मेक इन इंडिया यंग इंडिया ” की मिसाल दी है और बाकि युवाओ को और बड़ा करने की प्रेरणा दी है

एंटी कोविड-19 रोबोट

विशाल ने इस रोबोट को ‘एंटी कोविड-19 रोबोट’ नाम सिया है का दावा है कि रोबोट’ सोशल डिस्टेंसिंग कायम रखने में काफी कारगर हथियार साबित होगा। मूविंग कैमरा, रिमोट और इंटरनेट के माध्यम से चलाए जाने वाले इस उपकरण को टू-वे कॉलिंग के जरिए पुलिस चौकी में बैठे-बैठे लॉकडाउन का पालन कराया जा सकता है।

* लगेगा जोर का झटका पर धीरे से

किसी भी दिशा में चलने-मुड़ने में सक्षम एंटी कोविड-19 रोबोट के पास सुरक्षित रहने वाले 1500 से 2000 वोल्ट के करंट का उपयोग कर सोशल डिस्टेंसिंग तोड़ने वालों को जोर का झटका पर धीरे से दिया जा सकेगा। इतना ही नहीं, यह पुलिस जवान इसे 100-200 मीटर के दायरे में मौका मुअयाना में भी सक्षम है।

एंटी कोविड-19 रोबोट का उपयोग  लक डाउन के दौरान आ रही लोगों की दिक्कतों को सुनने और पुलिस तक पहुंचाने का भी एक खास गुण है। अगर किसी को कोई दिक्कत है तो बस उसे  रोबोट के सामने खड़ा होकर अपनी समस्या बतानी होगी। रोबोट उसकी बातों को रिकार्ड करेगा और पुलिस तक उस संदेश को पहुंचाएगा। संदेश पाकर पुलिस पीड़ित तक उसकी मदद को पहुंचेगी।

* रात में भी काम करने में सक्षम

यह दिन का उजाला हो या  रात ke अँधेरे में  भी काम करने में सक्षम है। इसमें दिया गया नाइट विजन कैमरे का ऑप्शन पुलिस को रात में भी पेट्रोलिंग में मदद करेगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *